सोमवार, 7 फ़रवरी 2011

गंगा की प्रमुख धाराओं की वर्तमान स्थिति

गंगा की प्रमुख धाराओं की वर्तमान स्थिति  अत्यंत दयनीय है.अब गंगा कचरे की संस्कृति का प्रतीक बन गयी है
नीचे गंगा से सम्बंधित तकरीबन सभी धाराओं का विवरण दिया गया है...



१ गणेश गंगा (पातालगंगा )---- सूखी
२ गरुड्गंगा        ------                सूखी
३ ऋषी गंगा      -----                  जलस्तर में तेजी से गिरावट
४ रूद्र गंगा        ------                 विलुप्त
५ धवल गंगा    ------                 जलस्तर में तेजी से गिरावट
६ विरही गंगा   ------                  जलस्तर में तेजी से गिरावट
७ खंडव गंगा      -----                 विलुप्त
८ आकाश गंगा  ------                जलस्तर में तेजी से गिरावट
९ नवग्राम गंगा  ------                विलुप्त
१० शीर्ष गंगा       -----                 विलुप्त
११ कोट गंगा        -----                विलुप्त
१२ गूलर गंगा       -----               जलस्तर में तेजी से गिरावट
१३ हेम गंगा         -----                सूखी
१४ हेमवती गंगा     ----               विलुप्त
१५  हनुमान गंगा   ----               जलस्तर में तेजी से गिरावट
१६ सिध्तारंग गंगा    ----             जलस्तर में तेजी से गिरावट
१७ शुद्ध्तारंगिनी  गंगा   ----        विलुप्त
१८ धेनु गंगा       -----                  विलुप्त
१९ सोम गंगा        -----                विलुप्त
२० अमृत गंगा      -----               जलस्तर में तेजी से गिरावट 
२१ कंचन गंगा      -----                वनस्पति के तीव्र दोहन से गादयुक्त हो गयी है
२२ लक्ष्मण गंगा      ------            जलस्तर में तेजी से गिरावट 
२३ दुग्ध गंगा      -----                  विलुप्त
२४ घृत गंगा   -----                     विलुप्त
२५ रामगंगा         -----               तेजी से सूख रही है
२६ केदार गंगा                            जलस्तर में तेजी से गिरावट      
गंगा के नाम पर अपनी दूकान चलाने वाले गंगा का सर्वनाश करके छोड़ेगे. इस देश में गंगा से कोई प्यार नही करता. नहीं तो ऐसी दुर्दशा पर क्रांति मच जानी चाहिए था.  वे जिन्हें तथाकथित नाज है  अपनी संस्कृति पर, संस्कृति की आत्मा गंगा की कोई खोज  खबर नहीं लेते क्योकि आत्मा नाम की वस्तु आउट आफ डेट   हो गयी है.          
Ref. The journal of Indian Thought  and Policy research, sep 2010.

5 टिप्‍पणियां:

  1. इत्ती सारी गंगा का नाम बताने के लिए धन्यवाद .जागरूकता फ़ैलाने में आपकी पोस्ट सहायक होगी . आभार

    उत्तर देंहटाएं
  2. गिरी साहब इसमें मजेदार बात कुछ नही शर्मनाक बात है पूरे भारतीयों के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  3. this blog is not only for reading the article , bu also for expressing your valuable thought for solving the maintained problem in the post .
    so please write your views so that some thing in reality could be done .
    Thanks

    उत्तर देंहटाएं